Ram ji ki aarti | संपूर्ण आरती का पाठ एवं लाभ। 2020

दोस्तों आप सभी का हमारे इस blog पर स्वागत है। दोस्तों आज का यह article बहुत ही खास होने वाला है क्युकी आज के इस article के जरिये हम आपको Ram ji ki aarti के बारे में बताएंगे। अगर आप श्री राम जी को अपना आराध्य मानते है तो यह article आपके लिए बहुत जरुरी है। आज की इस article में हम आपको राम जी की आरती के बारे में बताएँगे। दोस्तों श्री राम जी को मर्यादा पुरषोत्तम की उपाधि दी गयी है। उनके जैसा गुडवान और विनम्र व्यक्ति शायद ही कोई इस धरती पर पैदा हुआ हो।

दोस्तों हमे राम जी के व्यक्तित्व से बहुत कुछ सीखने की आवश्यकता है। दोस्तों मैं आप सभी से यही निवेदन करूँगा की आप इस post को पूरा पढ़े और इसे दोस्तों और परिवार के सभी लोगों के साथ अवस्य शेयर करे। दोस्तों अगर आपने इस article को अच्छे से पढ़ लिया तो आपको फिर कभी internet पर आपको Ram ji ki aarti के बारे में search नहीं करना पड़ेगा।

Ram ji ki aarti Lyrics 

श्री रामचन्द्र कृपालु भजु मन, हरण भवभय दारुणम्।

नव कंज लोचन, कंज मुख कर कंज पद कंजारुणम्॥

श्री रामचन्द्र कृपालु भजु मन

कन्दर्प अगणित अमित छवि, नव नील नीरद सुन्दरम्।

पट पीत मानहुं तड़ित रूचि-शुचि नौमि जनक सुतावरम्॥

श्री रामचन्द्र कृपालु भजु मन

भजु दीनबंधु दिनेश दानव दैत्य वंश निकन्दनम्।

रघुनन्द आनन्द कन्द कौशल चन्द्र दशरथ नन्द्नम्॥

श्री रामचन्द्र कृपालु भजु मन

सिर मुकुट कुंडल तिलक चारू उदारु अंग विभूषणम्।

आजानुभुज शर चाप-धर, संग्राम जित खरदूषणम्॥

श्री रामचन्द्र कृपालु भजु मन

इति वदति तुलसीदास, शंकर शेष मुनि मन रंजनम्।

मम ह्रदय कंज निवास कुरु, कामादि खल दल गंजनम्॥

श्री रामचन्द्र कृपालु भजु मन

मन जाहि राचेऊ मिलहि सो वर सहज सुन्दर सांवरो।

करुणा निधान सुजान शील सनेह जानत रावरो॥

श्री रामचन्द्र कृपालु भजु मन

एहि भांति गौरी असीस सुन सिय हित हिय हरषित अली।

तुलसी भवानिहि पूजी पुनि-पुनि मुदित मन मन्दिर चली॥

श्री रामचन्द्र कृपालु भजु मन

Shri Ram ji ki aarti lyrics in English

 

Shri Rama Chandra Kripalu Bhajuman, Haran Bhavbhay Darunam।
Nav Kanj Lochan, kanj Mukh Kar Kanj Pad Kanjarunam॥
Shri Rama Chandra Kripalu Bhajuman…।
Kandarp Aganit Amit Chhavi, Nav Neel Neerad Sundaram।
Pat Peet Maanahu Tadit Ruchi-Shuchi Naumi Janak Sutavaram॥
Shri Rama Chandra Kripalu Bhajuman
Bhaju Deenbandhu Dinesh Danav Daitya Vansh Nikandanam।
Raghunand Anand Kand Kaushal Chandra Dasharath Nandanam॥
Shri Rama Chandra Kripalu Bhajuman
Shir Mukut Kundal Tilak Charu Udar Ang Vibhushanam।
Ajanubhuj Shar Chap-Dhar Sangram Jit Khardushnam॥
Shri Rama Chandra Kripalu Bhajuman
Iti Vadati Tulsidas, Shankar Shesh Muni Man Ranjanam।
Mam Hriday Kanj Nivas Kuru, Kaamadi Khal Dal Ganjanam॥
Shri Rama Chandra Kripalu Bhajuman
Man Jahi Raacheu Milahi So Var Sahaj Sundar Sanvaro।
Karuna Nidhaan Sujaan Sheel Saneh Janat Ravro॥
Shri Rama Chandra Kripalu Bhajuman
Aehi Bhanti Gauri Asis Sun Siy Hit Hiy Hiy Harshit Ali।
Tulsi Bhavanihi Poojee Puni Puni Mudit Man Mandir Chali॥
Shri Rama Chandra Kripalu Bhajuman

रामचंद्र जी की आरती से क्या क्या लाभ होते है ?

  1. राम चंद्र जी को खुश करने का सबसे बढ़िया रास्ता है। 
  2. राम जी हमेशा हमारी रक्षा करते है। 
  3. प्रभु की आराधना से हमे सही और सटीक निरयण लेने में आसानी होती है। 
  4. गलत मार्ग पर जाने से प्रभु हमे रोकते है। 
  5. दोस्तों अगर आप राम जी को प्रसन करना चाहते है तो Ram ji ki aarti का नित्य पाठ करे।
  6.  राम जी की कृपा द्रिष्टि हमेशा हमपे बनी रहती है। 
  7. हनुमान जी को खुश करने में भी सहायक होती है। 

दोस्तों मुझे  पुरी उम्मीद है की आप सभी को हमारा यह article जो की Ram ji ki aarti  के ऊपर लिखा गया है पसंद आया होगा। अगर आपको वाकई हमारा यह post पसंद आया तो इसे अपने दोस्तों के साथ अवस्य share करे।

अगर आप हमे कोई सुझाव देना चाहते है तो आप हमे comment के जरिये बता सकते है। दोस्तों अगर आपको ऐसे ही post पढ़ना पसंद है तो आप हमारे ब्लॉग को subscribe भी  सकते है।

इन्हे भी अवस्य पढ़े

गणेश चालीसा 

शिव चालीसा 

गायत्री मंत्र 

Yadav

Hi, guys, I am a student. I am fond of writing articles. I think that I am a knowledgeable person and can share my knowledge with you. This blog is a Hindi blog. So you will get informational knowledge in Hindi. I love to know more information about God. With the help of this blog, I will be sharing with the aarti, Chalisa, stuti. stotra and many more things related to mythology in Hindi language.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *