Vidya Dadati Vinayam श्लोक का पाठ,अर्थ एवं महत्व।

दोस्तों आप सभी का हमारे इस blog पर स्वागत है। आज के इस article की सहायता से हम आपको vidya dadati vinayam श्लोक के बारे में पूरी जानकरी देंगे। आप सभी इस article को पूरा पढ़ें। 

दोस्तों इस श्लोक को विद्या का महत्व बताने के लिए किया गया है। विद्या का हमारा जीवन में क्या प्रभाव होता है एवं से हमारी जिंदगी कैसे बदलती है इस बारे में बताया गया है। हम सभी को इस श्लोक के बारे में पता होना चाहिए एवं इसका अर्थ भी जानना चाहिए। 

मैं आप सभी से निवेदन करता हूँ की आप सभी इस article को पूरा पढ़ें और अगर आपको हमारा यह article अच्छा लगे तो आप इसे अपने दोस्तों एवं रिश्तेदारों के साथ अवस्य share करे। इस article को पूरा पढ़ने के बाद आप internet पर कभी Vidya Dadati Vinayam  नहीं search करोगे। 

Vidya Dadati Vinayam Lyrics 

विद्यां ददाति विनयं,
विनयाद् याति पात्रताम्।
पात्रत्वात् धनमाप्नोति,
धनात् धर्मं ततः सुखम्॥

भावार्थ  

विद्या से हमे विनय की प्राप्ति होती है , विनय से हमे पात्रता की प्राप्ति होती है , पात्रता से हमे धन की प्राप्ति होती है , धन से धर्म की प्राप्ति होती है और धन से सुख की प्राप्ति होती है। 

Meaning in English

Through learning we get humility, through humility we get eligibility, by eligibility we get wealth, wealth brings righteousness and wealth brings happiness.

Note: This is translated by Google Translate.

विद्या ददाति विनयम श्लोक का महत्व 

दोस्तों  इस श्लोक का बहुत अधिक महत्व है क्युकी यह श्लोक हमे बहुत कुछ सिखाता है। यह हमे जिँदगी जीने के सार के बारे में बताता है। अगर आपने इस श्लोक को अच्छे से समझकर अपनी जिंदगी में उतार लिया तो आपकी जिंदगी सफल हो जाएगी। इस श्लोक का अगर आपने पालन किया तो आप जो चाहेंगे वो आपको प्राप्त होगा। 

दोस्तों जैसा की हम सभी जानते है की विद्या ही वह एकमात्र हथियार है जिसका इस्तेमाल करके हम दुनिया को बदल सकते है। जैसा ही इस श्लोक के जरिये हमे बताया गया है की जीवन में सुख की प्राप्ति के लिए विद्या को ग्रहण करना अति आवश्यक है। सभी को शिक्षा का अधिकार होना चाहिए। 

आपकी आपकी विद्या को न कोई चोर चुरा सकता है , न कोई राजा उसपर कब्ज़ा कर सकता है। यह एक ऐसा धन है जिसे आपको अपने भाइयों में बाटना नहीं पड़ता है और ना ही इसके होने से आपको कोई भार महसूस होता है। विद्या को आप जितना बाटेंगे उतना ही आपका विकास होगा। विद्या को सभी धनो में प्रधान माना गया है। 

हम सभी को इस श्लोक के बारे में अवस्य पता होना चाहिए क्युकी यभी हम शिक्षा के महत्व को समझ पाएंगे। मैं आपसे कहूंगा की जिन लोगों को इसके बारे में नहीं पता आप उन्हें इस प्रभावशाली श्लोक के बारे में अवस्य बताये। आप अपने बेटे-बेटियों को इसके बारे में बताये ताकि वे बचपन से शिक्षा के महत्व को समझ सके। 

निष्कर्ष 

मुझे उम्मीद है की आप विद्या ददाति विनयम श्लोक के बारे में जानने के बाद इसे दूसरे लोगों को भी अवस्य बताएंगे ताकि वे भी जिंदगी के सार को समझ पाए। आप उन्हें समझाये की शिक्षा हमारे लिए कितनी महत्वपूर्ण है एवं उसके महत्व को भी आप उन्हें समझाए। दोस्तों ज्ञान को जितना बाटा जाए वह उतना ही बढ़ता है। 

दोस्तों मुझे आशा है की आप सभी को हमारा यह article बहुत पसंद आया होगा जो की Vidya Dadati Vinayam shlok  के ऊपर लिखा गया है। दोस्तों मैं आप सभी से यही कहूंगा की अगर आपको हमारी यह मेहनत पसंद आयी हो और अगर आप इसे सराहना चाहते है तो आप इसे अवस्य share करे।

अगर आपको ऐसे ही देवी देवताओं से जुडी जानकारिया पढ़ना पसंद है तो आप हमारे blog को जरूर सब्सक्राइब करे। दोस्तों अगर आप हमे कोई सुझाव देना चाहते है तो आप हमे comment करके बता सकते है।

इन्हे भी अवस्य पढ़े –

यदा यदा ही धर्मस्य मंत्र 

गायत्री मंत्र 

शांति मंत्र 

महामृत्युंजय मंत्र 

असतो माँ सद्गमय 

गुरु ब्रह्मा गुरु विष्णु 

मंगलम भगवान विष्णु 

 

Yadav

Hi, guys, I am a student. I am fond of writing articles. I think that I am a knowledgeable person and can share my knowledge with you. This blog is a Hindi blog. So you will get informational knowledge in Hindi. I love to know more information about God. With the help of this blog, I will be sharing with the aarti, Chalisa, stuti. stotra and many more things related to mythology in Hindi language.